Hot
#बिज़नेस

Indian Stock Market returns: भारत के स्टॉक मार्केट रिटर्न ने सभी देशों को पछाड़ा।

पिछले दश वर्षों का डाटा देखें तो भारतीय स्टॉक मार्केट ने एक रिकार्ड तोड़ 10.9 % का रिटर्न दिया है जो दुनिया के किसी भी प्रमुख देशों में सबसे ज्यादा है
पिछले दश वर्षों में भारतीय स्टॉक मार्केट के सामने सारे देशों के स्टॉक मार्केट फीके हैं। भारत स्टॉक मार्केट का राजा हे।

आम आदमी पर क्या असर होगा : मध्यमवर्गीय समाज पर इसका बहुत बाद असर होगा, क्यूंकी मध्यमवर्ग की सबसे बड़ी चुनौती हे बढ़ती महंगाई। यदि इस बढ़ती महंगाई में किसी के बचत खाते में 10 लाख रुपए हें तो महंगाई बढ़ने के साथ ही इसके रुपये की कीमत भी गिरने लगेगी। ऐसे में मध्यमवर्ग का बहुत बाद हिस्सा स्टॉक मार्केट में निवेश करता हे जिससे की वे महंगाई को मात दे पाए। आज के समय यदि कोई स्टॉक मार्केट आपको 11 के आस-पास रिटर्न दे रही हे एक तो आप महंगाई को मात दे रहे हें क्यूंकी भारत में महंगाई दर 5 से 6% के आस-पास झूलती रहती हे। तो रिटर्न प्रतिशत से आपने महंगाई को मात देदी। और आपका पैसा बढ़ भी रहा हे।

भारत की बड़ी आबादी नहीं ले रही हे इसका लाभ : जो दुनिया में विकसित देश हें, जैसे USA, कनाडा, जर्मनी, फ़्रांस आदि की 33 % जनता स्टॉक मार्केट में निवेश करती हे, जिससे की वो महंगाई को मात दे पायें। चीन में भी 13 % जनता स्टॉक मार्केट में निवेश कर रही हे। पर कुछ इस्टीमेट के हिसाब से भारत में सिर्फ 3 से 7 प्रतिशत लोग ही स्टॉक मार्केट में निवेश करते हें। ये अपने आप में ही एक ट्रैजडी है की जो देश सर्वाधिक स्टॉक मार्केट रिटर्न दे रहा हे, उसी देश की एक बड़ी आबादी इसका लाभ नहीं उठा पा रही है।

भारत बना FDI पावरहाउस : फ़ॉरेन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट (FDI) सुरक्षित करने के मामले में भारत दुनिया का तीसरा सबसे बाद डेस्टिनेशन हे। वर्ल्ड इनवेस्टमेंट रिपोर्ट की रिपोर्ट ने ये कहा की 2022 में भारत में 49.3 बिलियन डॉलर का FDI भारत में आया था। भारत में लगातार विदेशों से निवेश किया जा रहा हे, ओर निवेशक पैसा भी काम रहे हें। परंतु इसका कोई भी लाभ भारत की जनता जो नहीं हुआ। भारत का स्टॉक मार्केट, मार्केट कैपिटलिज़ैशन के मामले में अपनी रैंक ओर बढ़ता जाता हे। हाल ही में एक रिपोर्ट आई थी जिसमें की मार्केट कैपिटलिज़ैशन यानि कितने लोगों ने स्टॉक में पैसा लगा रखा हे, इसमें भारत पाँचवी रैंक पर या चुका हे पूर्ण संभावना हे की भारत कुछ ही समय में चौथी या तीसरी रैंक पर या जाएगा।

भारत की सरकार को एक जागरूकता फैलानी चाहिए या आर्थिक शिखा जनता तक पहुंचाएगी जिससे भारत का आम नागरिक भी बढ़ती अर्थव्यवस्था का लाभ उठा सके।

Posted by – Anirudh Kumar

anirudhkumar9625@gmail.com

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *