Hot
#रोचक तथ्य

Teacher’s Day : जानिए शिक्षक दिवस मनाने का कारण।

प्रत्येक मानव के जीवन में शिक्षक का महत्व बहुत ज्यादा होता है। शिक्षक एक व्यक्ति के चरित्र, क्षमता और भविष्य को सँवारने का काम करते हैं। महान ग्रीक दार्शनिक अरस्तू ने कहा हे- ” जो लोग बच्चों को अच्छी शिक्षा देते हैं, वे उनलोगों के मुकाबले ज्यादा सम्मान के अधिकारी होते हैं जो उनको पैदा करते हैं, क्योंकि माता-पिता सिर्फ बच्चों को जन्म देते हैं जबकि शिक्षक उनको अच्छे से जीना का तरीका सीखते हैं। ” शिक्षकों के योगदान को देखते हुए उनके सम्मान में हर साल 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है, इसकी शुरुआत साल 1962 में हुई थी ।

5 सितंबर को ही क्यूँ मनाया जाता है : शिक्षक दिवस डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिवस के अवसर पर यानि 5 सितंबर को मनाया जाता है। वे एक महान शिक्षक थे एवं इसी के साथ वे स्वतंत्र भारत के पहले उपराष्ट्रपति और दूसरे राष्ट्रपति थे। ( 5 सितंबर 1888 को तमिलनाडु के थिरुमनी गाँव में एक साधारण परिवार में जन्मे राधाकृष्णन को 1954 में भारत रत्न से सम्मानित किया गया ) एक बार डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन से उनके छात्रों ने जन्मदिन का आयोजन करने का पूछा, तब राधाकृषण ने कहा – आप मेरा जन्मदिन मनाना चाहते हैं यह अच्छी बात हे पर यदि आप लोग इस दिन को शिक्षकों द्वारा शिक्षा के छेत्र में किए गए योगदान और समर्पण के तौर पर मनाएंगे तो मुझे ज्यादा प्रसन्नता होगी। उनकी इसी इक्षा का सम्मान करते हुए हर साल 5 सितंबर को देशभर में शिक्षक दिवस मनाया जाता है।

दूसरे देशों में भी मनाया जाता है शिक्षक दिवस : शिक्षक दिवस विश्व के कई देशों में मनाया जाता हे, जिसमें अमेरिका, चीन, औसट्रेलिया, अल्बानिया, इंडोनेशिया, ईरान, मलेशिया, ब्राजील और पाकिस्तान तक शामिल हैं। हालांकि हर देश में इसको मनाने की तारीख अलग-अलग हैं चीन में 10 सितंबर तो अमेरिका में 6 मई, औसट्रेलिया में अक्टूबर के अंतिम शुक्रवार, ब्राजील में 15 अक्टूबर और पाकिस्तान में 5 अक्टूबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है। इसके अलावा ओमान, सीरिया, मिश्र, लीबिया, यू.ए.ई, यमन, सऊदी अरब, मोरक्को और कई मुस्लिम देशों में 28 फरबरी को शिक्षक दिवस मनाया जाता है।

Posted by – Anirudh Kumar


Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *