Hot
#आध्यात्म

Ram Ram – Why should we say Ram Ram twice /दो बार राम राम क्यूँ बोलते हैं ?

हिन्दू धर्म में प्रभु श्रीराम का नाम सबसे पवित्र है | पुराने समय में लोग एक दूसरे से मिलने पर राम- राम बोलते थे | फिर समय के साथ कई बदलाब आए लोगों के पहनावे से लेकर खान-पान में आधुनिकता का प्रभाव दिखने लगा | यहाँ तक की भारत की शिक्षा पद्धति का भी आधुनिकीकरण हुआ और शिक्षा के द्वारा पश्चिमी मूल्यों पर अधिक जोर दिया गया| लोगों में राम-राम और नमस्कार की जगह ” हाय ” और ” हैलो ” जैसे शब्दों ने लेली | परंतु आज की नई पीढ़ी समय के साथ तकनीकी और बुद्धिमत्ता में सबसे आगे रहने के साथ ही अपनी सम्पन्न धरोहर पर भी गर्व करती है ओर देखा जा सकता है की आज की नई पीढ़ी पुनः अपनी वार्ता का आरंभ ” राम-राम ” से करते हैं |
पर क्या आप जानते हैं हम दो बार प्रभु राम का नाम क्यूँ लेते हैं ? आइए जानते हैं |

इसिलिए बोलते हैं दो बार राम
हिन्दी शब्दावली के हिसाब से “र” आता है 27 नंबर पर, “अ” आता है 2 नंबर पर, और “म” आता है 25 नंबर पर इन सब को जोड़ने पर बनाता है 54 | और सनातन हिन्दू धर्म में एक माला का जाप 108 बार किया जाता है | तो दो बार प्रभु राम का नाम लेने से हम 54 + 54 = 108 बार राम का नाम ले लेते हैं , तो इस प्रकार दो बार प्रभु राम का नाम लेना और एक माला का 108 बार जाप एक ही बराबर माना जाता है |
प्रभु श्री राम का नाम मंत्रों से भी बढ़के है| | प्रभु श्री राम के नाम में इतनी शक्ति है की सच्चे मन से मात्र प्रभु श्री राम का नाम लेने से सारे दुख, दर्द, पीढ़ा दूर हो सकते हैं| हम सभी के लिए प्रभु श्री राम प्रेरणास्त्रोत हें की कैसे उन्होंने विषम से विषम परिस्थिति में भी अपना धैर्य और संयम रख कर विजय प्राप्त की |
|| जय श्री राम ||

Posted By – अनिरुद्ध कुमार

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *